नर युग्मक जनन | परागण से पूर्व परिवर्धन | परागण के बाद परिवर्धन बीजाण्ड के प्रकार

लघुबीजाणु या परागकण की संरचना | best biology notes

लघुबीजाणु या परागकण की संरचना परागकण नर युग्मकोद्भिद्‌ की प्रथम कोशिका है। परागकण के चारों तरफ दो आवरण पाये जाते हैंबाह्य चोल तथा अंतः चोल। बाह्य आवरण या बाह्य चोल मोटा, कठोर तथा अलंकृत होता है। यह बाह्य आवरण क्‍यूटीन तथा स्पोरोपोलेनिन का बना होता है। स्पोरोपोलेनिन अत्यधिक प्रतिरोधी होता है। यह उच्च ताप तथा …

लघुबीजाणु या परागकण की संरचना | best biology notes Read More »